संपूर्ण यात्रा

संपूर्ण यात्रा

मेरी पवित्र कैलाश-पर्वत और मानसरोवर की यात्रा का संपूर्ण वर्णन
04/6/2010 – 02/7/2010
अपने यात्रा अनुभव  अपने द्वारा खींचे गए चित्रों के साथ।

प्रस्थान वर्णन

1. प्रथम तीन दिन 4/6/2010 – 6/6/2010
भूमिका और प्रथम तीन दिन

2. चौथे दिन 7/6/2010
दिल्ली से अल्मोड़ा

3. पाँचवाँ दिन 8/6/2010
अल्मोड़ा से पिथौरागढ़
.
पिथौरागढ़ से धारचूला (वाया मिरथी)

4 छठा दिन 9/6/2010
धारचूला से गाला

5 सातवाँ दिन10/6/2010 (गाला से बुद्धि )
गाला से लखनपुर

लखनपुर से मालपा

मालपा से बुद्धि कैंप

6 आठवाँ दिन 11/6/2010 (बुद्धि से गुंजी)

बुद्धि से गर्ब्यांग

गर्ब्यांग से गुंजी

7 नवाँ दिन 12/6/2010
एक दिन गुंजी में…

8 दसवाँ दिन 13/6/2010
गुंजी से कालापानी

9 ग्यारहवाँ दिन 14/6/2010
कालापानी से नवींढांग(ऊँ पर्वत)

10 बारहवाँ दिन 15/6/2010 नवींढांग से तकलाकोट(तिब्बत)

नवींढांग से लिपुलेख

भारत-तिब्ब्त-सीमा से तकलाकोट

11 तेरहवाँ दिन 16/6/2010

एक दिन तकलाकोट में

12 चौदहवाँ दिन 17/6/2010 तकलाकोट से दारचेन

तकलाकोट से दारचेन

अष्टपद-दर्शन

13 पँद्रहवां दिन 18/6/2010 कैलाश-परिक्रमा प्रारंभ

दारचेन से यम-द्वार

यमद्वार से डेरापुख

डेरापुख में चरण-स्पर्श तक (अद्भुत है  अलौकिक है वहाँ जाना )

14 सोलहवाँ दिन19/6/2010

डेरापुख से जुथुलपुक

15 सत्रहवाँ दिन20/6/2010

ज़ौंग्ज़ेबू/जुलुत्पू से दारचेन
16 अट्ठारहवाँ दिन 21/6/2010 मानसरोवर-परिक्रमा

दार्चेन से कुगु फरहंध

17 उन्नीसवाँ दिन22/6/2010

कुगु में दूसरा दिन

18 बीसवाँ दिन 23/6/2010

कुगु में तीसरा दिन

19 इक्कीसवाँ दिन 24/6/2010

कुगु से कीहू

    वापिसी

20 बाइसवाँ दिन 25/6/2010

किहु से तकलाकोट

21तेइसवाँ दिन26/6/2010

एक दिन और तकलाकोट में

22 चौबीसवाँ दिन 27/6/2010

तकलाकोट से लिपुलेख पास

लिपुलेख से नवींढांग

नवींढांग से काला पानी

23 पच्चीसवाँ दिन 28/6/2010

कालापानी से गुंजी

24 छब्बीसवाँ दिन29/6/2010

गुंजी से बुद्धि

25 सत्ताइसवाँ दिन 30/6/2010

बुद्धि से धारचूला

26 अट्ठाइसवाँ दिन 1/7/2010

धारचूला से जागेश्वर

27 उनतीसवाँ दिन 2/7/2010

जागेश्वर से दिल्ली

9 Responses to “संपूर्ण यात्रा”

  1. Smart Indian - स्मार्ट इंडियन Says:

    ॐ नमः शिवाय!
    प्रेमलता जी,

    यात्रा का समूर्ण विवरण पढकर बहुत अच्छा लगा। चित्र यदि कुछ बडे होते तो और भी अच्छा होता। समय सारणी और स्थानों के विवरण के अनुसार यह वर्णन भविष्य के तीर्थ-यात्रियों के लिये एक निर्देशिका और अन्य सभी लोगों के लिये एक सन्दर्भ का काम करेगा।

    आपकी इस कैलाश-मानसरोवर यात्रा का विवरण अन्य इच्छुक जनों तक पहुँचाने की मंशा से सन्क्षिप्त विवरण के साथ एक लिंक “सर्वश्रेष्ठ हिन्दी ब्लॉग्स” पर रखा है। यदि आपको ठीक न लगे तो निसंकोच बता दीजिये, हटा दूंगा।

    यदि सम्भव हो तो इसे पुस्तकाकार में प्रकाशित कराने की सम्भावनायें भी खोजिये।

    मंगलकामनायें!

    उ०- ॐ नमः शिवाय!
    अनुरागजी!
    समस्त यात्रा-विवरण पढ़ने और टिप्पणियों के लिए आभारी हूँ!
    – बड़े चित्र http://picasaweb.google.com/ppasand पर जाकर देख सकते हैं।

    – आप द्वारा “सर्वश्रेष्ठ हिन्दी ब्लॉग्स” में लिंक देने के लिए मैं धन्यवाद करती हूँ।
    – पुस्तक प्रकाशित करने पर काम चल रहा है।
    पुनः धन्यवाद!
    शुभेच्छु
    प्रेमलता पांडे

  2. jatdevta Says:

    पांडे जी नमस्कार,
    बहुत की शानदार यात्रा रही है,
    आज सिर्फ़ नमस्कार बाद में तसल्ली से सारी यात्रा विस्तार से देखूंगा।

    धन्यवाद नीरजजी!

  3. डॉ. रामकुमार सिंह Says:

    अदभुत मा । अति सुन्‍दर यात्रा व़त्‍तान्‍त और आपकी जीवन्‍तता। साधु साधु

  4. Raj Says:

    I need your contact Number for more details kailash mansrover.

    thanks & Regards
    Raj-9958167161

  5. "जाट देवता" संदीप पवाँर Says:

    मेरी भी यहाँ जाने की इच्छा है।

  6. yogitiwari Says:

    अमल धवल गिरि के शिखरों पर
    बादल को घिरते देखा है।

    छोटे-छोटे मोती जैसे
    उसके शीतल तुहिन कणों को,
    मानसरोवर के उन स्वर्णिम
    कमलों पर गिरते देखा है,

    ॐ नमः शिवाय!
    प्रेमलता जी आप का यात्रा व्रतांत पड़कर ऐसा लगा कि हम मानो कैलाश मानसरोवर यात्रा के पथिक रहे हों
    बड़ी ही सजीव लेखनी है ……. मेरे पास शब्द नहीं है कि में आपने ह्रदय के उदगार व्यक्त कर सकूं
    बहुत बहुत मंगल कामनाएं …..जय श्री राम

  7. Sudarshan nyati Says:

    आप की पवित्र कैलाश मानसरोवर यात्रा का विवरण बहुत हे रोमांचकारी है. वर्णन जीवंत लग रहा है. मेरा व पत्नी का बे इस वर्ष आठवें बेच में नंबर आया है. बहुत अच्छा लग रहा है. कृपया कोई विशेष तयारी करनी हो तो बतला दे. सुदर्शन न्याती एवं उषा न्याती 9413358150 कोटा राजस्थान

    ॐ नम: शिवाय’ न्यातीजी
    मेरा लेखन पसंद आया धन्यवाद|
    पवित्र कैलाश-मानसरोवर यात्रा के लिए आप और श्रीमती उषा जी के नामांकित होने की बधाई और शुभकामनाएँ!
    भोलेबाबा आपकी यात्रा सकुशल पूर्ण करेंगे बस दृढ़ इच्छाशक्ति बनाए रखें. स्वास्थ्य की जाँच पहले से भी करा लें और प्राणायाम का अभ्यास बढ़ाते जाएँ| श्वास-नियंत्रण पहाड़ों पर चढ़ाई में बहुत जरूरी है|
    शुभेच्छु
    प्रेमलता पाण्डेय

  8. Sudarshan nyati Says:

    आप के द्वारा दी गयी सलाह बहुत ही अनुकूल है. आज तो हम एक वीक के लिए लेह लद्धाक जा रहे हे. २२ मई से नियमित परता भ्रमण व प्राणायाम शुरू करूँगा. वैसे में योग शिक्षक वा प्राकृतक चिकित्सक हूँ.तो करता तो हूँ पर पत्नी को कारवां पड़ेगा. पेशे से नुक्लिएर पॉवर में अभियंता हूँ. आपका का बहुत शुक्रिया पुरे इन्टरनेट पर आपका एक मात्र हिंदी में इतना रोचक वा जीवंत लेख है. आप के मेहनत कि सराहना के लिए शब्द नहीं है.

  9. Surinder Sharma Says:

    ॐ नम: शिवाय
    यात्रा वर्णन बहुत अच्छा है. धन्यवाद

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s


%d bloggers like this: